Kitabikeeda to sabhi h .......be a storyworm

ae dil hai mushkil open letter

डियर ज़िन्दगी
ऐ दिल है मुश्किल देखी? हम बॉयकोट कर रहे थे तो डाउनलोड कर के देखी । वैसे ज्यादातर सीन्स किसी न किसी फिल्म मे देखे हुएे है। देखना अगर न देखी हो तो, अपनी कहानी है, जैसे लगभग फिल्मे होती थी।
पर अपनी कहानी में अनुष्का भी तुम थी, ऐश्वर्या भी। तुम्हे अनुष्का की तरह ही दोस्ती चाहिए थी और ऐश्वर्या की तरह तुम भी आखिरी में प्यार कर बैठी थी।
रणबीर भी आग के सामने बैठकर accept करता है कि वो school college में इतना famous नही था, introvert था। मेरी भी तो यही कहानी थी, जो तुम्हारे सामने एकदम से खुल गया। बस मैं रणवीर नही पर तुम ऐश्वर्या और अनुष्का से रत्ती भर भी कम नही।
रणबीर और अनुष्का जब फिल्मों और गानो की बात करते है तो लगता है कि यार हम भी तो यही करते थे, यूँ ही तो करीब आये थे न और फिर जब ऐश्वर्या और रणबीर के बीच शायरी आती है तो याद आया की मेरी लिखावट ने ही तो मुझे तुमसे मिलाया था। कितना कुछ अपना है इस कहानी में, पर बहुत से लोगो की यही कहानी होगी…
वो जब interval के बाद chat करते है न तो तुम याद आती हो।
तुम कहती थी न तुम मुझे अपनी कमजोरी नही ताकत बनाना चाहती हो। फिल्म देखी तो लगा की तुम्हारी कमजोरी भी तो कोई और था। इसलिए तुम मुझे वो जगह नही दे पाई।
जैसे ऐश्वर्या से मिलकर निकलने के बाद अनुष्का कहती है न की प्यार करती हूँ, बहुत प्यार करती हूँ। बस तुम्हे समझा नही सकती, तो एकदम से तुम्हारा चेहरा सामने आ गया।
तुम्हे भी रिश्ते में जूनून नही चाहिए था। तुम्हे भी ये रिश्ता सुकून वाला चाहिए था, दोस्ती वाला, ताकि उम्र भर चल सके। मुझे तब भी समझ नही आया था, फिल्म देखकर भी नही आया। वो बात और है कि तुम्हे वापस पाने के लिए मैं वो कीमत भी अब चुकाने को तैयार हूँ।
रणबीर भी दिल टूटने के बाद बदतमीज हो जाता है। मैंने भी कहाँ कम बद्तमीजी की। आखिरी बार फोन भी काट दिया था। तब कहाँ पता था कि यही आखिरी है। पर वहां block रणवीर करता है, यहां तुमने किया है। क्योंकि कही न कही तुम भी अनुष्का की तरह मुझे बर्बाद होते नही देखना चाहती जैसे वो हुई थी। पर तुम देखो, न देखो, बर्बाद तो हो ही रहा हूँ न। तो यार आ जाओ।
पता नही ये post तुम तक पहुंचेगा भी या नही। पर पहुंचे तो कुछ जवाब जरूर देना। एक बार जवाब देने ही आ जाना।
तुम्हारा
लिखावट तो पहचान ही रही होगी

ae dil hai mushkil , open letter



Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz