Kitabikeeda to sabhi h .......be a storyworm

Popular Stories

Vishwamitra part-2

Vishwamitra part-2

विश्वामित्रा भाग 2 फोन का नंबर डायल कर उसने अपने गले को कुछ खँखारा….उधर से फोन के उठते ही एक आदमी की कुछ गंभीर सी आवाज़ आई…. “हैलो…..” “हैलो…क्या मैं अविनाश से बात कर सकती हूँ????….” बड़ी मादकता से पूछा उसने…. “हाँ मैं अविनाश बोल […]

Vishwamitra Part-1

Vishwamitra Part-1

विश्वामित्रा भाग 1 “ट्रीन ट्रीन….वेक अप…अप…अप…” अलार्म ने अपने पूरे जोश के साथ उसकी गहरी नींद तोड़ी… हड्बड़ा कर उठी वह….. घबराई सी बेचैन नज़र चारों ओर घुमाई….शायद वह कल देर रात तक स्टडी मे ही बैठी थी…..शायद थक कर यहीं सो गयी थी…शायद…. पर […]

Yeh Wada Raha

Yeh Wada Raha

मने लड़का अब एकदम सेंटी हो चुका है, कोई बीच में नहीं आएगा! आज भी नहीं भूलता किस तरह फेसबुक पर मोदी पर बेहेस करते-करते तुमसे दोस्ती हो गयी और तुमसे प्यार कर बैठे। फेसबुक पर तुम्हारी एक-एक फोटू को अलग-अलग कोण से देखते-देखते कई […]

90 का दशक

90 का दशक

संकरी सी एक गली! जिसमें हर घर में लाल पीली सी चाइनीज़ बत्तियों का गुच्छा सा लटका है! हर छत पर लोगों का जत्था है! छोटे बच्चे जो हाथ से बम दगा रहे है! कुछ और भी छोटे बच्चे जो चुटपुटिया जला रहे हैं! कुछ […]

बेरोज़गार आशिक-3

बेरोज़गार आशिक-3

हर सफर की खासियत है वो तब रास आने लगता है जब वो खतम होने लगता है। 6 साल, हज़ारों अधूरे वादे, लाखो बचकाने ख्वाब, और एक मुकम्मल ईश्क़.. ये तुम्हारा प्रेम ही है जिसने मुझे हर परिस्थिति में उम्मीदें दी हैं हर समय एक […]

सड़क

सड़क

पार्ट-1 वो बहुत शर्मीला था! वो बेबाक थी थोड़ी! रेलवे कालोनी में रहते थे दोनों! लड़की के पिता जी रेलवे में बाबू थे, लड़के के पिता जी टीटी! लड़का बॉयज स्कूल पे पढता था! लड़की कोएड! लड़का बहुत एवरेज दिखता था, पतला दुबला! साइड से […]

स्विच “टिक-टाक-टिक-टाक!”

स्विच “टिक-टाक-टिक-टाक!”

स्विच से खेलते हुए 3 साल के ‘सोमू’ को उसके बाबा ने डांटा और गोद में उठाकर नीचे ले गए! “तुम्हे सब कब से नीचे ढूंढ रहे हैं और तुम यहाँ तिमंजिले पर चढ़े हो! मना किया है न बाबू तुमको ऊपर आने के लिए? […]

सब केमोफ्लेज़ है(छलावा)

सब केमोफ्लेज़ है(छलावा)

“अबे तुम लोग को पता है दाउद कहाँ छुपा है?” “बतावें भईया!” सामने बैठे चार लौंडों में से एक ने कहा! मुंह से गुटखे की केसरिया धार नाली में थूकते हुए, ठुड्डी उठाकर, फंसी जीभ से सुत्तन भईया ने बड़े ही जासूसी अंदाज़ में बोला […]