Kitabikeeda to sabhi h .......be a storyworm

poetry

देखना तुम लौटोगी

देखना तुम लौटोगी

तुम वक़्त नामक फ्लाईओवर पर चढ़ के मुझसे बहुत दूर निकल गयी हो पर मैं अब तक बैठा हूँ इसी फ्लाईओवर के नीचे सपनो के सिगरेट फूँकते पुराने दिनो की डायरियां पढ़ते तुम्हारा इन्तजार करते हुए ये सोचते हुए की कभी तो लाल होगा तुम्हारे […]

Khas yu hota,Har Sham Sath Tu hota

Khas yu hota,Har Sham Sath Tu hota

खास यू होता,हर शाम साथ तू होता :-)) जिंदगी का सबसे मुश्किल वक़्त हम अकेले अनजानी सी राहों पर ना मंजिल का पता ना राहों की खबर :-)) अजनबी शहर में अकेले तन्हा ,बेवजह वक़्त की फिक्र अपनों से दूर रहने का गम :-(( एक अनजान […]

Tera Mera Rishta

Tera Mera Rishta

यह डोरें भी ना कच्ची होने की वजह से जितना जल्दी टूट जाती हैं उतना ही जल्दी यह उलझ भी जाती हैं😦 अब देखो ना हम भी तो उलझ गए एक-दूसरे की जिंदगी में …… तुम्हें लगता हैं कि मेरी जिंदगी में कोई और होगा […]

Isiliye likha jana jruri nahi ki padha jaye

Isiliye likha jana jruri nahi ki padha jaye

इसलिए लिखा जाना जरुरी नहीं है की पढ़ा जाए इसलिए लिखा जाना जरुरी है की कागज़ पर हरकत हो एक हरकत जिससे फूटे बीज उगे शैवाल कागज़ पर चमके सूरज बहे नदियाँ हवाए सिमटे हाशियो पर दिन किसी शब्द में चहचहाए रात बना नहीं रहे […]

Mat Pucho

Mat Pucho

ये लड़के बड़े ही बाग़ी हैं जेब में रखते हैं कौन सा हथियार, मत पूछो सड़क पे बेमौत मारा गया एक कुत्ता कौन हुआ गिरफ़्तार, मत पूछो क्रांति की मशाल से जल कर बुझ गए गए कितने कलम वाले शहर में छापेगा अब कौन अख़बार, […]

Dial kiya gaya number mauzud nahi hai

Dial kiya gaya number mauzud nahi hai

यहाँ हंसने के लिए बस अपना चेहरा था और सबके माथे पर चिपका था आईना रात जब भी खांसते हुए, छाती पे जाते है हाथ हथेलिय महसूस करती है पुराने जख्मो के निशान शराब में डूबा मन, डायरी में लिख देता है की पिछली जन्म […]

Beware rebel inside: Tum Behrupiye ho

Beware rebel inside: Tum Behrupiye ho

तुम्हारी बातों में तेज छुरी सी धार है तुम्हारे होठों से खून बहता है तुम्हारे अन्दर एक बागी है पर तुम्हारे छाती पे नहीं लिखा है Beware: Rebel Inside तुम धोखेबाज हो बहरूपिये हो तुम्हारे प्रेमिकाओं ने तुम्हे छोड़ दिया तुम पहेली थे और उन्हें […]

Mere dil ka sara Dard

Mere dil ka sara Dard

मेरे दिल का सारा दर्द, जब मैंने तुझे बतलाया था। उस वक्त एक आँसू, तेरी आँख में भी आया था। तेरे दिल के करीब, नजर से दूर था मैं। मैंने उसे बहने दिया, तब मजबूर था मैं। बड़ा परेशान था, दर्द से चूर था मैं। […]