Kitabikeeda to sabhi h .......be a storyworm

Motivational

Ek gufa thi kali :obsession

Ek gufa thi kali :obsession

एक गुफा थी काली। गुप्प घना अँधेरा। मैं टोता रहा अपने ही हाथ। मैं पकड़ता रहा अँधेरे की उंगलियां। मेरी पल्खें लड़कर चोट खाती रहीं आपस में। एक उम्र तलक बैठा रहा। मगर कब तक। तभी ऊपर से एक रोशनी गिरी। मैंने उसकी आग में […]

कच्ची उम्र के पक्के वादे

कच्ची उम्र के पक्के वादे

कच्ची उम्र के पक्के वादें प्रिया अपने कमरे की चारों दीवारों को ताक रही थी हमारा रिश्ता केवल इंसानों के साथ ही नहीं होता हैं हम उस हर चीज़ से जुड़ जाते हैं जिसका वक़्त-बेवक़्त हमारी जिंदगी में दखल होता हैं फिर चाहे वो दीवारें, […]

दूसरो मे अच्छाईयाँ ढुंढे : Find goodness

दूसरो मे अच्छाईयाँ ढुंढे : Find goodness

एक दिन श्रील चेतन्य महाप्रभु पुरी (उड़ीसा) के जगन्नाथ मंदिर में ‘गुरूड़ स्तंभ’ के सहारे खड़े होकर दर्शन कर रहे थे। एक स्त्री वहां श्रद्धालु भक्तों की भीड़ को चीरती हुई देव-दर्शन हेतु उसी स्तंभ पर चढ़ गई और अपना एक पांव महाप्रभुजी के दाएं […]

अहंकार छोड़िये और सीखना शुरु किजिये : Ego Hindi moral story

अहंकार छोड़िये और सीखना शुरु किजिये : Ego Hindi moral story

धरती पर जन्म लेने के साथ ही सीखने की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाती है ज्यों हम बड़े होते जाते हैं, सीखने की प्रक्रिया भी विस्तार लेती जाती है, जल्द ही हम उठना, बैठना, बोलना, चलना सीख लेते हैं। इस बड़े होने की प्रक्रिया के साथ […]

खम्भे ने पकड़ रखा है : Guru ki sikh

खम्भे ने पकड़ रखा है : Guru ki sikh

एक समय शराब का एक व्यसनी एक संत के पास गया और विनम्र स्वर में बोला, ‘गुरूदेव, मैं इस शराब के व्यसन से बहुत ही दुखी हो गया हूँ। इसकी वजह से मेरा घर बरबाद हो रहा है। मेरे बच्चे भूखे मर रहे हैं, किन्तु […]

Paglo k sabse bade bhagwan ne kaha

Paglo k sabse bade bhagwan ne kaha

आईये रातों को सिराहने पे रख कर दीवारों पर सुबह रंग दे…ये सोच कर की ये दुनिया सच्ची नहीं है, वास्तविक नहीं है. हम दस मंजिले से कूद जाए… अपने शरीर से बहते हुए खून और उखड़ती साँसों को धोखेबाज कहते हुए हम सबको गन्दी […]

kabhi yu hi hota hai

kabhi yu hi hota hai

कभी यूँ भी होता है कि पता होता है कि हम जीत नहीं सकते और हम कोशिश ही नहीं करते या फिर जो हमसे आगे है उसकी हार की दुआएं मांगते हैं। हालांकि इस सबसे होता कुछ नहीं, निराशा के सिवा। तो होना ये चाहिए […]

zindagi jeene ka naam hai

zindagi jeene ka naam hai

आज कल सुबह जब भी अखबार उठाओ तो एक ख़बर जैसे अखबार की जरुरत बन गई है कि फलानी जगह पर इस बन्दे या बंदी ने आत्महत्या कर ली ..क्यों है आखिर जिंदगी में इतना तनाव या अब जान देना बहुत सरल हो गया है […]

jhuth- ullul jullul

jhuth- ullul jullul

मेरी सोची हुई हर एक सम्भावना झूटी हो गई, उस पल मन में कई सारी बातें आई। पहली बात, जो मेरे मन में आई, मैंने उसे जाने दिया। शायद उसी वक्त मुझे कह देना चाहिए था। शायद नही कहा तो भी ठीक किया। फिर दूसरी […]

Zindagi

Zindagi

अपनी सेफ साइड रखते हुए कुछ लोग जिंदगी को सम्भलकर जीते रहते हैं। वो जिंदगी से खेलते रहते हैं ताकि जिन्दगी जी सके। लड़ने की तैयारी तो कर चुके होते हैं, पर लड़ने की हिम्मत नही जुटा पाते। वो कुछ लोग हारने के डर को […]